छुट्टा पशुओं के हमले से 55 वर्षीय ​वृद्ध की मौत

छुट्टा पशुओं के हमले से 55 वर्षीय ​वृद्ध की मौत

पवारा, जौनपुर। जहां उत्तर प्रदेश सरकार छुट्टा पशुओं को लेकर गौरक्षा संरक्षण अधिनियम के तहत गौशाला बनवाने तथा तमाम व्यवस्थाओं के दावे कर रही है, वहीं यदि हम जमीनी हकीकत की बात करें तो प्रतिदिन छुट्टा पशुओं से लोग गंभीर रूप से घायल होने के साथ-साथ मृत्यु भी हो रही है, बावजूद सरकार का इस पर किसी प्रकार का कोई ध्यान आकर्षित नहीं हो रहा है। ऐसी ही दर्दनाक घटना आज थाना पवारा के अंतर्गत ऊंचडीह में घटित हुई जब 55 वर्षीय युवक डॉक्टर जगदीश मिश्रा अपने घर के पास पेशाब करने बैठे थे तभी पीछे से छुट्टा पशु सांड ने उन पर हमला कर दिया, हमले से सांड के दोनों सींग जगदीश मिश्रा के गले में घुस गई जिससे तत्काल मौके पर ही उनकी मृत्यु हो गई।

सूचना पर घटना स्थल पर 108 नंबर एंबुलेंस और 112 नंबर पुलिस पहुंच कर शव को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सतहरिया पहुंची, जहां डॉक्टरों ने भी उन्हें मृत घोषित कर दिया। गुस्साए पीड़ित परिवार और ग्रामीणों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का ही घेराव करते हुए कहा कि जब तक उप जिलाधिकारी मछली शहर नहीं आते हैं तब तक शव को पोस्टमार्टम के लिए नहीं ले जाने देंगे, गुस्साए ग्रामीणों को समझाने के लिए थाना पवारा एसओ एस एस पंकज, थाना मुंगरा बादशाहपुर उप निरीक्षक मनोज कुमार पांडेय भरसक प्रयास करते रहे किंतु पीड़ित परिवार और ग्रामीणों ने एक ना सुनी,

ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि आए दिन इस तरह की घटनाएं घटित होती रहती है कई बार प्रार्थना पत्र देकर उप जिलाधिकारी को अवगत कराया गया है लेकिन केवल आश्वासन पर आश्वासन मिलता चला आ रहा है, इसलिए इस पर तत्काल ठोस कार्रवाई किया जाए जिससे भविष्य में इस प्रकार की घटना न घट सके। समाचार लिखने तक उप जिलाधिकारी नहीं पहुंचे थे पीड़ित परिवार व प्रशासन उप जिलाधिकारी मछली शहर के पहुंचने का इंतजार कर रहे थे।

 

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn