अवैध दवा व्यवसाय के खिलाफ संगठन चलायेगा अभियान

अवैध दवा व्यवसाय के खिलाफ संगठन चलायेगा अभियान

जौनपुर। जनपद की अग्रणी दवा संगठन केमिस्ट एंड कॉस्मेटिक वेलफेयर एसोसिएशन के सहयोगी शाखा रिटेलर्स फोरम ने ऐलान किया है कि वह अवैध दवा व्यवसाय के खिलाफ अभियान चलायेगा। रविवार को नगर के एक होटल के सभागार में आयोजित गोष्ठी में फुटकर दवा व्यवसायियों ने इस संबंध में एक स्वर से मांग की। वक्ताओं ने थोक दवा लाइसेंस पर दवाओं की फुटकर बिक्री करने की बढ़ रही प्रवृत्ति पर चिंता व्यक्त करते हुए इस अवैध बिजनेस को तत्काल रोके जाने की मांग की।

दवा व्यवसायी राजेश सिंह साईं ने कहा कि अधोमानक और नकली दवाओं के सहारे डिस्काउंट का चारा डालकर ग्राहकों को आकर्षित किया जा रहा है। जो इस व्यवसाय की तय मर्यादाओं और मानवीय मूल्यों के विरुद्ध है। इस पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिये। फुटकर दवा व्यवसाई धर्मेंद्र कुमार गुप्ता ने कहा कि अब समय आ गया है फुटकर दवा व्यवसायी विधि सम्मत और नियमानुसार अपना व्यवसाय चलाएं। हमें दवा में डिस्काउंट की गला काट प्रतियोगिता के बजाय दवाओं की गुणवत्ता का ध्यान रखना जरूरी है। साथ ही हमें जीविकोपार्जन के लिये और व्यवसाय चलाने के लिये उचित मुनाफा भी रखना ही होगा।

 

फोरम के महामंत्री धर्मेंद्र गुप्ता ने एक 3 सूत्रीय प्रस्ताव पेश किया। जिसे सदन ने ध्वनिमत से स्वीकार कर लिया। प्रस्ताव में मांग किया गया कि अवैध तरीके से थोक लाइसेंस लेकर फुटकर दवाओं का व्यवसाय कर रहे व्यवसायियों पर रोक लगाई जानी चाहिये। थोक व्यवसाईयों को यदि फुटकर व्यवसाय करना है तो उन्हें नियमानुसार फुटकर का लाइसेंस प्राप्त करना चाहिये। उसके पहले रिटेलर फोरम सभी थोक दवा व्यवसायियों से अनुरोध करेगा कि वह इस प्रकार के अवैध व्यवसाय को बंद करें। साथ ही वह बिना लाइसेंस की दवा बेच रहे लोगों को भी दवाओं की उपलब्धता रोके। गोष्ठी में स्वीकृत किये गये प्रस्तावों के क्रियान्वयन के लिये 8 सदस्यीय एक्शन कमेटी का गठन किया गया। इस अवसर पर अध्यक्ष ध्रुव जायसवाल, संदीप गुप्ता, अंजनी वर्मा, अमित मौर्य आदि मौजूद रहे। एसोसिएशन के महामंत्री राजेंद्र निगम ने समस्याओं से निपटने के लिये सहयोग करने की प्रतिबद्धता जताई। महेन्द्र गुप्ता ने आभार व्यक्त किया।

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn