जानिए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अजय कुमार साहनी के बारे में कुछ अनसुनी बातें

जानिए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अजय कुमार साहनी के बारे में कुछ अनसुनी बातें

जानिए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अजय कुमार साहनी के बारे में कुछ अनसुनी बातें

 

 

जौनपुर। जिला पंचायत और ब्लॉक प्रमुख चुनाव से ठीक पहले शासन ने जौनपुर जिले में नए पुलिस अधीक्षक की तैनाती की है। वर्ष 2009 बैच के तेज तर्रार आईपीएस अजय कुमार साहनी को जिले का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। वह मौजूदा एसपी राजकरन नय्यर की जगह लेंगे।

आईपीएस अजय साहनी इससे पहले मेरठ में एसएसपी के पद पर थे। इसी वर्ष जारी फेम इंडिया मैगजीन की ओर से देश के 50 सर्वश्रेष्ठ आईपीएस में यूपी से से छह आईपीएस का नाम चुना गया था। इसमें आईपीएस अजय साहनी भी शामिल हैं।
मूल रूप से महराजगंज जिले के निवासी अजय साहनी की पहचान एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में भी है। वर्ष 2016 में सिद्धार्थनगर जिले में तैनाती के दौरान कुख्यात बावरिया गिरोह के कई सदस्यों को पुलिस ने सीधी मुठभेड़ में पकड़ा था। इस मुठभेड़ में एक गोली उनके जैकेट पर भी लगी थी। वह सिद्धार्थनगर के अलावा बिजनौर, आजमगढ़, अलीगढ़, बाराबंकी जिले में भी एसपी रह चुके हैं।

आजमगढ़ में वह दो बार एसएसपी रहे। अपराध नियंत्रण और अपने अलग अंदाज के लिए वह जाने जाते हैं। आजमगढ़ में डी-9 गैंग के सरगना और 50 हजार के इनामी बदमाश सुजीत सिंह उर्फ बुढ़वा को ढेर करने पर इन्हें गत वर्ष वीरता पुरस्कार भी मिला है। मौजूदा एसपी राजकरन नय्यर ने मल्हनी विधानसभा के उपचुनाव से ठीक पहले गत वर्ष अगस्त में कार्यभार संभाला था। चर्चा है कि राजकरन नय्यर खुद जिले से हटना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने व्यक्तिगत कारण बताते हुए शासन से अनुरोध भी किया था। पिछले दिनों यह मामला काफी सुर्खियों में भी रहा।

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn