जौनपुर। जिले के मीरगंज स्थानीय थाना क्षेत्र स्थित करियांव गांव की वर्तमान महिला प्रधान 40 वर्षीय रीना सोनी पत्नी रविशंकर सोनी की संदिग्ध परिस्थितियों में जल कर मौत हो गई। जिससे स्वजनों के करूण क्रंदन से माहौल गमगीन हो गया। ग्राम प्रधान की मौत की खबर सुनकर ग्राम पंचायत के सैकड़ों लोग प्रधान के आवास पर जुट गए। घर वाले प्रधान की मौत को मानसिक तनाव बता रहे हैं।पास पड़ोस के लोग मौत को संदिग्ध मान रहे हैं। जबकि मायके से पहुचे मृतका के भाई ने परिजनो पर जलाकर मारने का आरोप लगाया है। सूचना पर पहुची पुलिस मामले की जांच पड़ताल करने में जुट गयी है।बताया जाता है कि रीना सोनी पुत्री जगदीश प्रसाद की शादी करियांव निवासी रविशंकर सोनी पुत्र बब्बन सोनी के साथ सन 2002 में हुई थी। जिसके बाद दोनों का वैवाहिक जीवन हशी खुशी से चलता रहा और वह दिसम्बर 2015 में करियांव गांव की प्रधान बनी। 

लोगो के अनुसार 

बुधवार की शाम मृतका प्रधान के पति रविशकर सोनी बाजार से ही गयी एक बारात में गये हुये थे। वे रात 2 बजे घर आकर सो गए। वृहस्पतिवार की भोर 4 बजे मानसिक रूप से विक्षिप्त चल रही प्रधान रीना सोनी ने आग लगा लिया। हो हल्ला सुनकर उठे परिजन जब तक कुछ समझ पाते उसकी दर्दनाक मौत हो गयी। घटना की जानकारी जंगल मे आग की तरह फैल गयी और देखते ही देखते सैकड़ो की संख्या में लोगो की भीड़ जुट गयी। सूचना पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आवश्यक कार्यवाही करते हुए मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर मृतका के मायके से पहुचे उसके भाई बृजमोहन ने  उसे जलाकर मारने का आरोप लगाते हुए पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर परिजनों पर कार्रवाई करने की मांग की है।मृतका को दो पुत्र 14 वर्षीय स्वास्तिक ,10 वर्षीय हनी और दो बेटियां 8 वर्ष की आर्या 6 वर्ष की शानवी हैं। मृतका की मौत को लेकर क्षेत्र में तरह तरह की चर्चायें फ़ैल गई है। मामला चाहे जो भी हो लेकिन गांव सहित आस पास के लोगो के गले केे निचे नही उत्तर रहा की आखिर महिला प्रधान ने मौत को क्यो गले लगाया। मामला चाहे जो भी हो पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद निश्चय ही रहस्यमय जानकारी से पर्दा उठ जाएगा ।