जौनपुर। सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के बड़ऊर गावं में वृहस्पतिवार को एक ही समुदाय के दो पक्षो के बीच महिला का शव दफनाने को लेकर विवाद हो गया। बाद में पहुंचे एस डी एम शाहगंज सी ओ सदर व ग्रामप्रधान की सूझबूझ से दोनों पक्षो को समझा बुझा कर महिला का शव दफन किया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को बड़ऊर गावं निवासी शहाना 36 पत्नी नूर मोहम्मद का देहांत हो गया। मृतक की कब्र खोदने के लिए परिजन जब गावं के कर्बला स्थित कब्रिस्तान गए तो गावं के मिल्की वर्ग के अबरार व नैयर हसन यह कहकर आपत्ति प्रकट की यह उनका पैतृक कब्रिस्तान है उसमे शहाना का शव नही दफन होगा। जबकि नूर मोहम्मद काकहना था कि उनके पूर्वज इसी कब्रिस्तान में दफन होते आए है। ग्राम प्रधान डाक्टर अरविन्द गुप्ता को सूचना मिली तो वो भी मौके पर पहुंचे। मौके पर पंचायत हुई लेकिन कोई हल नही निकला। फिर एस डी एम शाहगंज राजेश वर्मा सी ओ सदर नृपेंद्र भी मौके पर पहुंचे। मौके पर कानूगो रामचन्द्र  गुलाब सिंह और लेखपाल श्रीप्रकाश अग्रहरि से ज़मीन की छानबीन कराई गई तो वह श्रेणी छ की ज़मीन निकली। इसके बाद दोनों पक्षों को समझा बुझा कर इसी कब्रिस्तान के एक भाग में  वृहस्पतिवार की देर शाम शाहाना का शव सकुशल दफन कर दिया गया।