जौनपुर।नेवढ़िया थाना क्षेत्र के महेवा गाँव निवासिनी शकुंतला यादव के तहरीर के पर नेवढ़िया पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दो आरोपितो को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया।विदित हो कि बीते चार दिन पूर्व रविवार को शकुंतला यादव ने नेवढ़िया थाने पर तहरीर देकर आरोप लगाया था कि नेवढ़िया थाना क्षेत्र के ही नोकरा (नोनौटी) गाँव निवासी विकाश दुबे ने दस माह पहले 24 अप्रैल को मेरी आल्टो कार किराए पर चलवाने के लिए ले गए थे, जिसका किराया 700 रुपये प्रतिदिन देने की बात किये थे। विश्वास पर मैने अपनी आल्टो कार उन्हें दे दिया जिसका तीन माह तक किराया निरंतर मेरे खाते में भेजा भी गया, लेकिन उसके बाद न तो निर्धारित किराया ही मुझे मिला और न ही मेरी गाड़ी ही मुझे मिली।गाड़ी मांगने पर लगातार सात महीने से विकाश टालमटोल कर रहा है। जब मैं उसके घर पहुंचा तो विकाश व उसके परिजनों ने भद्दी भद्दी गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दे रहे है। वहीं पीड़िता के तहरीर पर नेवढ़िया पुलिस ने विकाश दुबे और उनके पिता रमेश माता मनोरमा व पत्नी शिवांगी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर आरोपितो की तलाश में जुट गई थी। वही पुलिस ने गुरुवार को माता मनोरमा व पिता रमेश दुबे को गिरफ्तार कर चालान न्यायालय भेज दिया। इस संदर्भ में थानाध्यक्ष नेवढ़िया राजनारायण चौरसिया ने बताया कि धोखाधड़ी के आरोप में दो आरोपितो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, मुख्य आरोपीत की तलाश की जा रही है।