जौनपुर। केराकत तहसील के मई टूटवा गांव में एक साथ तीन भाइयों की अर्थी उठी। नज़ारा देख पूरे गांव में मातम पसर गया। किसी भी घर चूल्हा नहीं जला। तीनों की शुक्रवार को सड़क हादसे में मौत हुई थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मई टूटवा निवासी बाबूलाल राम अकबरपुर फायर ब्रिगेड में दरोगा हैं। उनके बेटे राजेंद्र प्रसाद (35), मुकेश कुमार (21) आशीष गौतम (19) गाजीपुर में शनिवार को होने वाली हाईस्कूल की परीक्षा देने एक ही बाइक से जा रहे थे। तीनों चंदवक-औड़िहार मार्ग स्थित पतरही बाजार पहुंचे ही थे कि सामने से आ रही अनियंत्रित स्कार्पियों से भिड़ंत हो गई।
हादसे में तीनों गिर पड़े और स्कॉर्पियो बाइक पर चढ़ गई। इसमें बाइक चला रहे राजेंद्र प्रसाद व आशीष गौतम की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी।
वहीं मुकेश गंभीर रूप से घायल हो गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोभी भेजा। मुकेश की हालत गंभीर देख बेहतर इलाज के लिए ट्रामा सेंटर बीएचयू रेफर कर दिया गया। वहां मुकेश ने भी दम तोड़ दिया। पोस्टमार्टम होने के बाद तीनों शवों को घर लाया गया तो हाहाकार मच गया। शनिवार को  गांव के ही गोमती नदी किनारे मई घाट पर तीनों भाइयों की एक साथ चिता जली। मानों पिता ने खून की आंसू रोता दिया मुखाग्नि।