जौनपुर। विज्ञान प्रदर्शनी मेला एक स्पर्धा है। जिसमें प्रतिस्पर्धी अपनी-अपनी विज्ञान परियोजना प्रस्तुत करते हैं। विज्ञान मेले छात्रों में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में रुचि पैदा करने एवं अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का अवसर प्रदान करती हैं। और बच्चों को स्वाभाविक जिज्ञासा एंव रचनात्मक के लिए एक मंच उपलब्ध कराती है। जहाँ वे अपनी ज्ञान पिपासा हेतु खोजबीन कर सकते है। उक्त सभी बातें क्षेत्र मनेछा गांव में स्थित मदरसा बहरुल उलूम में लगे विज्ञान प्रदर्शनी मेला में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुई ओमप्रकाश मिश्रा पीजी कॉलेज फुलेश आज़मगढ़ की गृहविज्ञान की प्रवक्ता प्रियंका मिश्रा ने कही।गुरुवार की सुबह उक्त मदरसे में विज्ञान प्रदर्शनी मेले में बच्चों ने विज्ञान से सम्बंधित अनेक मॉडल प्रस्तुत किया। जो विज्ञान व तकनीकी को बढ़ाव देने की गवाही पेश कर रहे थे। वही प्रर्दशनी मेला में विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार एंव महिला बाल विकास आयोग के जिलाध्यक्ष खुर्शीद अहमद ने विज्ञान प्रर्दशनी में लगे मॉडलों को देखकर तारीफ करते हुए कहा कि विज्ञान प्रदर्शनी मेला पढ़ाई का एक अंग है। बच्चे अपने कला कौशल का प्रदर्शन करते है। वाकई प्रदर्शनी में लगाने के लिए बच्चों ने मॉडल बनाने में काफी मेहनत की है। ऐसे मौकों पर बच्चों की प्रतिभा का अवलोकन किया जा सकता है की बच्चों के अन्दर किस प्रकार की प्रतिभा छिपी है।वही कार्यक्रम में बेहतरीन मॉडल पेश करने वाले छात्रों को उक्त अतिथियों द्वारा पुरस्कार वितरित कराया गया। जिसमें प्रथम स्थान छात्रा जावेरिया, द्वितीय छात्रा अफीका व तृतीय अशफा को मिला। इन तीनो छात्रों को सील्ड देकर उत्साहवर्धन करते हुए अग्रिम उज्ज्वल भविष्य की कामना किया गया। इस मौके पर प्रधानाचार्य मो0 फ़ैज़ ने आगन्तुको के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों ने बच्चों में रचनात्मकता का विकास होता है। उनके अन्दर छिपी प्रतिभा बाहर आती है। बच्चे एक दूसरे को अपने-आने ज्ञान का साझा करते है। जिससे शिक्षकों द्वारा उस हिसाब से बच्चो को आगे के लिए प्रेरित किया जाता है। इस दौरान मुख्य रूप से मो0 तैय्यब फ़ैज़ अहमद  मो0 राशिद मौलाना नवीद मो0 सकलैन मौलाना ग़ालिब नदीम अहमद गुड्डू इरफान अहमद आदि लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन हाजी जियाउद्दीन ने किया।।।

इनपुट-अज़ीम सिद्दकी