जौनपुर। सल्तनत बहादुर पीजी कालेज बदलापुर के पूर्व प्राचार्य डा. लाल साहब सिंह 80 वर्ष का मंगलवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। बता दें कि डा. लाल साहब सिंह ने मुंबई के झुनझुनवाला, टीडी पीजी कॉलेज में भी अध्यापन कार्य किया। प्राचार्य परिषद के सम्मानित सदस्य रहे। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय रोवर्स रेंजर्स के प्रभारी के दायित्व को सुशोभित कर चुके थे। डा. सिंह अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़कर गये। तीन पुत्रों में डा. अनिल सिंह शंभूगंज में प्रधानाचार्य हैं। डा. विजय कुमार सिंह तिलकधारी महाविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर व पूर्वांचल शिक्षक संघ के अध्यक्ष है। उनके तीसरे पुत्र डा. अरुण कुमार सिंह स्विस बैंक पुणे में अधिकारी हैं। निधन की जानकारी होते ही राज कालोनी स्थित उनके निवास पर पहुंचकर तिलकधारी महाविद्यालय के प्रबंधक अशोक सिंह, डा. समर बहादुर सिंह, डा. अब्दुल कादिर खान, डा. राजीव प्रकाश सिंह, डा. राहुल सिंह महामंत्री, डा. शैलेंद्र सिंह, डा. जितेश सिंह, डा. सिद्धार्थ सिंह सहित तमाम लोगों ने शोक जताया।

इसी क्रम में डा. लाल साहब सिंह के निधन पर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष चेतनारायण सिंह ने शोक व्यक्त किया। उन्होंने हिंदी साहित्य की अपूरणीय क्षति बताते हुए उनके लंबे शैक्षणिक जीवन में हिंदी साहित्य की विभिन्न संस्थाओं में की गई गौरवमयी सेवा को याद किया। इस दौरान माध्यमिक शिक्षक के संरक्षक संकठा सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष नरसिंह बहादुर सिंह, प्रांतीय मंत्री अजय प्रकाश सिंह, संरक्षक प्रेमचन्द राय, जिला संयोजक सुधाकर सिंह, सह संयोजक प्रमोद कुमार सिंह, प्रदेश कार्य समिति के सदस्य राम प्रकाश सिंह, जय किशुन यादव, डा. प्रविंद सिंह, जय प्रकाश सिंह, राम कुमार, लाल साहब यादव, रणंजय सिंह, राजेश यादव, प्रशान्त पांडेय, धर्मेन्द्र सिंह, अजय सिंह आदि ने शोक व्यक्त किया।