जौनपुर। तहसील अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राजदेव यादव की अध्यक्षता में हुई बैठक में वक्ताओं ने तहसील के विभिन्न कार्यालयों व कर्मचारियों के बीच आम जनता व वादकारियों से लगातार किये जा रहे शोषण व भ्रष्टाचार पर नाराजगी जतायी।
साथ ही कहा कि तहसील में व्याप्त भ्रष्टाचार की वजह से न्याय से लोगों का विश्वास उठ रहा है। आम जनमानस को साधारण प्रार्थना पत्र से लेकर न्यायालय के आदेश पर की जाने वाली कार्यवाही आदि में तहसील के अधिकारी व कर्मचारी भारी धनउगाही कर रहे हैं जिससे कहीं न कहीं अधिवक्ता भी प्रभावित हो रहे हैं।
ऐसी दशा में जब तक तहसील में भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लग जाता है तब तक काम कर पाना अधिवक्ताओं के लिये मुश्किल हो जा रहा है। इस दौरान उपजिलाधिकारी व तहसीलदार के न्यायालय बहिष्कार का निर्णय लिया गया। बैठक का संचालन महामंत्री लालचन्द्र गौतम ने किया।
अन्त में अधिवक्ताओं ने जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी राजेश वर्मा को सौंपा। इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष रामहित यादव, बाबूराम यादव, महादेव यादव, लालता यादव, सुरेन्द्र बहादुर सिंह, राजीव सिंह, मोहम्मद सारिक, रामदास पासवान सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।