जौनपुर। कार्यक्रम कार्यान्वयन विभाग के सचिव एवं नोडल अधिकारी सत्येंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में कोविड-19 एवं संचारी रोग नियंत्रण की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई बैठक में नोडल अधिकारी ने जनपद में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि शासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें। लोग घर से बाहर मास्क लगाकर ही निकले। कार्यालयों एवं बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए। नियमों का पालन न करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि जो कोरोना मरीज अस्पताल में भर्ती हैं उनको अच्छी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

मटियारी में बने एल-1 हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना मरीज से फोन पर बात करके हॉस्पिटल की स्थिति की जानकारी प्राप्त किया। नोडल अधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को गंभीरता से लें, इसमें लापरवाही न बरतें। अगर किसी को कोई समस्या हो तो अवगत कराएं उसका निस्तारण कराया जाएगा। संचारी रोग अभियान की समीक्षा करते हुए नोडल अधिकारी ने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत को साफ-सफाई तथा एंटी लार्वा का छिड़काव कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि कहीं गंदगी न रहे तथा नालियों में पानी का जमाव न हो। छिड़काव की जाने वाली दवा गुणवत्तापरक होनी चाहिए। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि अभियान की समीक्षा नियमित रूप से की जाए। जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने नोडल अधिकारी को जनपद में कोविड-19 तथा संचारी रोग नियंत्रण हेतु किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जनपद में  कोरोना मरीजों हेतु आठ एल-1 हॉस्पिटल बनाए गए हैं, जिसमें से दो क्रियाशील है।

आवश्यकता पड़ने पर अन्य अस्पतालों का भी उपयोग कोरोना मरीजों के इलाज के लिये किया जाएगा। जो कोरोना संक्रमित एल-1 अस्पताल में नहीं जाना चाहते हैं उनके लिए दो होटल चिन्हित किए गए हैं जिसके लिए रहने तथा खाने का खर्च कोरोना पेशेंट को उठाना होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राकेश कुमार, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) रामप्रकाश आदि उपस्थित रहे।