जौनपुर| शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के नगर से सटे ग्राम खरौना में सोमवार की रात बारात आयी थी|वही खिचड़ी के समय (शादी का एक रस्म ) दहेज लोभी दूल्हे ने दहेज व तिलक न मिलने पर तांडव मचाया |फिर क्या दुल्हन ने शादी के बाद ससुराल जाने से इंकार कर दिया| फिलहाल दूल्हा बरातियों संग पुलिस कस्टडी में है|वही सवादाता के मुताबिक शादी मे 50 जगह 150 बाराती आए थे जहा सोशल दिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया|

जौनपुर के ही खेतासराय से आई थी बारात |

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार की रात शाहगंज से सटे ग्राम नटौली में मनोज राजभर की लड़की की शादी थी निश्चित समय पर बारात थाना खेतासराय के ग्राम पारा कमाल  से अाई। लड़की पक्ष ने आवा भगत की सारी रस्में रितिरिवाज के अनुसार सिंदूर दान तक किये। सुबह खिचड़ी के समय दूल्हे ने दहेज में सोने की सिकड़ी व तिलक के पैसे मांगने लगा तो लड़की पक्ष वालो ने असमर्थता जाहिर की तो दूल्हा नाराज हो गया घरातियों बरातियों में कहा सुनी होने लगी।इस पर किसी ने पुलिस को सूचना दी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्ष के लोगो को थाने पर ले अाई।

लड़की पक्ष ने लॉकडाउन मे  शादी करने से किया था इंकार|

जबकि लड़की पक्ष के कथनानुसार की लड़की पक्ष ने लाकडॉउन को देखते हुए शादी करने से  इंकार कर दी गई थी परन्तु दूल्हे पंकज पुत्र दलसिंगार के आग्रह पर शादी का दिन पड़ा और बारात अाई लड़की पक्ष ने दहेज की कोई बात नहीं की थी लडके पक्ष ने भी कहा था मुझे दहेज नहीं लड़की चाहिए। फिलहाल दोनों पक्षों को कोतवाली में बिठाया गया है।
शाहगंज से चंदन अग्रहरी कि रिपोर्ट