हंसमुख मिजाज के धनी व्यक्ति थे वरिष्ठ पत्रकार यादवेन्द्र दूबेः विनीत सेठ

हंसमुख मिजाज के धनी व्यक्ति थे वरिष्ठ पत्रकार यादवेन्द्र दूबेः विनीत सेठ

स्व. मनोज दूबे की बेटी की शादी में नहीं आने दूंगा कोई परेशानीः प्रिंसू

जौनपुर। वरिष्ठ पत्रकार स्व. यादवेन्द्र दूबे मनोज की तीसरी पुण्यतिथि शुक्रवार को कलेक्टेªट परिसर स्थित पत्रकार संघ भवन में मनाया गया। इस मौके पर उपस्थित अतिथियों व पत्रकारो ने स्व. मनोज दूबे के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित किया। श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए विधान परिषद सदस्य बृजेश सिंह प्रिंसू ने कहा कि पत्रकार समाज का दर्पण होता है। वह अपने कलम से गरीबों, मजलूमों की आवाज शासन प्रशासन तक पहुंचाकर उन्हें न्याय दिलाने का काम करता है। ऐसे में हम लोगों की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि पत्रकारों के सुख दुःख में शामिल होकर हरसंभव मदद करें। उन्होंने कहा कि मई माह में स्व. मनोज की बेटी की शादी है, बेटी की विवाह पूरे धूमधाम से किया जायेगा।

इस पुनीत कार्य के लिये समाज के हर सक्षम व्यक्ति को आगे आना चाहिये। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद उनकी पत्नी से वादा किया कि बेटी के हाथ पीले करने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दूंगा। इस मौके पर एसपी सिटी डा. संजय कुमार ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि पत्रकार हर समय समाज के लिये खड़ा रहता है। अपनी लेखनी के माध्यम से हम लोगों का मार्गदर्शन करता रहता है। उन्होंने कहा कि स्व. मनोज की बेटी की शादी में मैं खुद और पुलिस परिवार की तरफ से हरसंभव मदद करूंगा।

गहना कोठी परिवार के विनीत सेठ ने कहा कि मनोज दूबे से हमारे बहुत अच्छे तालुकात थे। वे हंसमुख मिजाज के धनी थे। उन्होंने भी बेटी की शादी में भरपूर मदद करने का भरोसा दिलाया। कवि सभाजीत द्विवेदी प्रखर, कांग्रेसी नेता सुरेन्द्र त्रिपाठी, पत्रकार राजेश श्रीवास्तव ने श्रध्दांजलि सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम का आयोजन व संचालन पत्रकार राजकुमार सिंह ने किया। इस मौके पर पत्रकार अजीत सिंह, विश्व प्रकाश श्रीवास्तव, अजीत बादल, कुंवर नीतिश, सुशील स्वामी, उमेश मिश्रा, कृपाशंकर यादव, जितेन्द्र दुबे, विरेन्द्र पाण्डेय, पकंज मिश्रा, अजय पाण्डेय, शशि मौर्या, अखिलेश तिवारी अकेला, मंगला प्रसाद तिवारी, मनीष श्रीवास्तव, जुबेर अहमद आदि मौजूद रहे। अतिथियों को धन्यवाद स्व. मनोज की पत्नी उषा दूबे, भाई ज्ञानेन्द्र दुबे तथा पुत्र अंकुर दुबे ने दिया।