भाषा (Language)

जौनपुर में मुख्यता तीन तरह की भाषा अधिकता में बोली जाती है।पहली भाषा है- अवधि।जिसे यहाँ रहने वाले ज्यादातर लोग बोलते हैं। पड़े-लिखे हो या अनपढ़, सभी इस भाषा का बहुलता से प्रयोग करते हैं।ये यहाँ की स्थानीय भाषा है।जैसे- मुझे भूख लगी है।इस खड़ी बोली का अवधी रूप होगा- हमका भूख लाग बाटै।या, मैं तुमसे प्यार करता हूँ।अवधि में कहेंगे- हम तोहसी प्यार करी थी।दूसरी भाषा है- खड़ी हिन्दी बोली।जो कि पूरे भारत की राष्ट्रभाषा है।अवधि के बाद ये भाषा यहाँ पर पूरे हिन्दुस्तान की तरह ही प्रचुरता में बोली जाती है।लेकिन स्थानीय भाषा का दबदबा हर जगह देखा

सम्पूर्ण विवरण हेतू क्लिक करें
भाषा (Language)

भाषा (Language)

जौनपुर में मुख्यता तीन तरह की भाषा अधिकता में बोली जाती है। पहली भाषा है- अवधि। जिसे यहाँ रहने वाले ज्यादातर लोग बोलते हैं। पड़े-लिखे हो या अनपढ़, सभी इस भाषा का बहुलता से प्रयोग करते हैं। ये यहाँ की स्थानीय भाषा है। जैसे- मुझे भूख लगी है। इस खड़ी बोली का अवधी रूप होगा- हमका भूख लाग बाटै। या, मैं तुमसे प्यार करता हूँ। अवधि में कहेंगे- हम तोहसी प्यार करी थी। दूसरी भाषा है- खड़ी हिन्दी बोली। जो कि पूरे भारत की राष्ट्रभाषा है। अवधि के बाद ये भाषा यहाँ पर पूरे हिन्दुस्तान की तरह ही प्रचुरता में

सम्पूर्ण विवरण हेतू क्लिक करें