सिकरारा/जौनपुर।यूपी बोर्ड परीक्षा परिणाम आने के बाद इंटरमीडिएट की टापर मां शारदा इंटरमीडिएट बालिका विद्यालय खानापट्टी की छात्रा जागृति मौर्या का सपना है कि वह आईएएस अफसर बने। जागृति ने 500 में से 450 अंक के साथ 90 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। उन्होंने इस परीक्षा के लिए कालेज की पढ़ाई के साथ घर पर 6 से 7 घंटे तक की पढ़ाई की। जागृति ने सबसे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनकी वजह से यूपी में नकलविहीन परीक्षा हुई और अच्छे परिणाम आए। जिले के दुर्गापार गांव निवासी मूलचंद मौर्य शिक्षक है तो माता सीमा मौर्या आंगनबाड़ी कार्यकत्री है। तीन भाई बहनों में जागृति सबसे बड़ी है। दूसरे नम्बर का भाई आदर्श हाईस्कूल परीक्षा में 86 प्रतिशत अंको के साथ उत्तीर्ण किया। सबसे छोटा भाई विख्यात सातवीं का छात्र है। जिले की टापर छात्रा जागृति का कहना है कि लक्ष्य को साधने के लिए उन्होंने सालभर मेहनत की थी। उन्होंने केवल पढ़ाई पर फोकस किया और जो लक्ष्य तय किया था, उसे हासिल कर लिया। कामयाबी का श्रेय उन्होंने अपने माता- पिता के साथ विद्यालय के प्रधानाचार्य शरद सिंह व सभी शिक्षकों को दिया है। कहा कि विद्यालय के प्रबंधक जगदीश नारायण सिंह द्वारा समय- समय पर आकर पढाई के प्रति जागरूक करना वह भी प्रेरणादायक रहा। जागृति ने बताया कि कोचिंग में कभी नही गई। कहा कि जब विद्यालय में कुशल शिक्षक मौजूद है तो कोचिंग की आवश्यकता ही नही पड़ी। अंग्रेजी पसंदीदा विषय है।

इनपुट- सौरभ सिंह